दोस्तों संग शराब पार्टी, गर्लफ्रेंड से मुलाकात, मुंबई हिट एंड रन केस की नई कहानी

मुंबई के वर्ली हिट एंड रन मामले में मंगलवार को पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली. घटना के बाद से फरार चल रहे शिवसेना नेता राजेश शाह के आरोपी बेटे मिहिर शाह को ठाणे के शाहपुर से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. वहीं उसकी मां और बहन को भी पुलिस ने विरार इलाके से हिरासत में ले लिया.

इस मामले में पहले से ही हिरासत में लिए गए मिहिर शाह के ड्राइवर राजऋषि बिदावत की पुलिस रिमांड सीवरी कोर्ट ने 11 जुलाई तक बढ़ा दी है, जबकि एक दिन पहले ही उसके पिता व शिवसेना नेता राजेश शाह को कोर्ट से जमानत मिल गई थी. हालांकि घटना को लेकर अब एक नई कहानी निकलकर सामने आई है, जिसको मुंबई पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, घटना वाले दिन सबसे पहले मिहिर शाह और उसके चार दोस्त मुंबई के जुहू इलाके में गए और वहां पार्टी की. पार्टी का बिल करीब 18 हजार से 19 हजार के बीच आया. पार्टी करने के बाद ये लोग BMW कार, जो कि मुख्य आरोपी मिहिर शाह के ही परिवार की है, उसमें बैठकर बोरीवली गए. बोरीवली में मिहिर ने अपने तीन दोस्तों को उनके घर छोड़ा और उसके बाद ड्राइवर संग मरीन ड्राइव की तरफ आगे बढ़ा. यहां मिहिर ने देर रात करीब 3:30 बजे अपनी एक महिला मित्र से भी मुलाकात की.

जब खुद ड्राइविंग सीट पर बैठ गया आरोपी मिहिर

मिहिर ने मरीन ड्राइव के पास ड्राइवर राजऋषि बिदावत से कहा कि गाड़ी वह खुद चलाएगा. मिहिर ड्राइविंग सीट पर बैठ गया. भोर में करीब सवा पांच बजे के आसपास मिहिर ने सीजे हाउस के पास प्रदीप नख्वा की स्कूटर में टक्कर मारी. स्कूटर पर बैठीं प्रदीप नख्वा की पत्नी कावेरी नख्वा गाड़ी के बंपर पर आ गिरीं. पुलिस अधिकारी के मुताबिक, करीब डेढ़ किलोमीटर तक मिहिर गाड़ी को चलाता रहा. फिर मिहिर और उसका ड्राइवर राजऋषि बिदावत गाड़ी से नीचे उतरे और कावेरी नख्वा को कार से अलग कर दिया. फिर गाड़ी कावेरी के ऊपर से चढ़ा कर आगे ले गया.

घटना के बाद आरोपी मिहिर ने पिता राजेश शाह को किया फोन

पुलिस को अंदेशा है कि डरी हुई स्थिति में होने के चलते मिहिर ने गाड़ी दूसरी तरफ से निकालने की कोशिश थी, लेकिन हड़बड़ी में गाड़ी महिला के ऊपर से लेकर चला गया. घटना के बाद मुख्य आरोपी मिहिर ने ड्राइवर राजऋषि बिदावत के साथ सीट बदल ली और गाड़ी की स्टेयरिंग उसे थमा दी. पुलिस ने अंदेशा जताया कि आरोपी ने अपने पिता राजेश शाह के कहने पर ऐसा किया गया होगा. जिस वक्त यह घटना हुई, उसके बाद मिहिर ने अपने पिता और कई लोगों को फोन किया. पुलिस उन सभी लोगों से पूछताछ कर रही है, जिन लोगों के संपर्क में मिहिर आया था.

आरोपी के पिता ने गाड़ी से हटाया शिवसेना का स्टीकर!

पुलिस ने बताया कि सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि दुर्घटना के बाद गाड़ी कुछ दूर तक आगे गई और कलानगर सिग्नल पर बंद पड़ गई. मिहिर के पिता राजेश शाह कलानगर सिग्नल पर सुबह लगभग 6:30 बजे के आसपास पहुंच गए और उन लोगों ने गाड़ी को टो कराने और चूंकि मुख्य आरोपी के पिता शिवसेना एकनाथ शिंदे गुट के पदाधिकारी हैं और इस बात की जानकारी किसी को न हो, इसलिए गाड़ी पर लगे हुए स्टीकर को भी हटाने की कोशिश की.

प्रमुख रूप से पिता राजेश शाह की गिरफ्तारी पुलिस ने इसी आधार पर की थी कि उन्होंने आरोपी की मदद की. वहीं पुलिस के मुताबिक, घटना के बाद मिहिर ने अपनी गर्लफ्रेंड से मुलाकात की और बोरीवली की तरफ गया, जहां उसकी आखिरी लोकेशन ट्रेस की गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here